कथित आतंकवादी के घर से मिला बड़ी मात्रा में विस्फोटक और ISIS का झंडा

loktantranews: राष्ट्रीय राजधानी से आईएसआईएस के एक संदिग्ध आतंकवादी को गिरफ्तार करने के दो दिन बाद दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने उसके घर से बड़ी मात्रा में विस्फोटक सामग्री और आईएसआईएस का एक झंडा बरामद किया है। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले के बधिया भैसाही गांव निवासी मोहम्मद मुस्तकीम खान उर्फ अबू यूसुफ के पास से शुक्रवार को दो प्रेशर कुकर आईईडी बरामद हुए हैं। उसे दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने शुक्रवार रात धौला कुआं और करोल बाग के बीच रिज रोड इलाके से संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था। दिल्ली पुलिस की विशेष प्रकोष्ठ की टीम उसे उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले के बधिया भैसाही गांव ले गई। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि उसके घर से एक भूरे रंग की जैकेट जिसमें तीन विस्फोटक पैकेट थे और चार विस्फोटक पैकेट वाले नीले रंग की चेक जैकेट बरामद की गई। दिल्ली पुलिस के उपायुक्त(विशेष प्रकोष्ठ) पी एस कुशवाह ने कहा, “उसकी जैकेट की हर विस्फोटक पैकेट को निकाल दिया गया है। हर पैकेट में पारदर्शी टेप से विस्फोटक को बांधा गया था। इसके अलावा उसके घर से एक कार्डबोर्ड शीट मिली जिसपर बिजली के तार और बॉल बेयरिंग चिपकाई गईं थी।” उन्होंने बताया कि खान की राष्ट्रीय राजधानी के भीड़भाड़ वाले इलाके में ‘‘लोन वुल्फ ’’ हमला करने की साजिश थी।

डीसीपी ने कहा, उसके घर से आईएसआईएस का एक झंडा, लगभग तीन किग्रा विस्फोटक के साथ एक चमड़े की बेल्ट, चार अलग-अलग पॉलीथीन में आठ से नौ किलोग्राम विस्फोटक, पारदर्शी टेप से बांधे गए बिजली के तार और विस्फोटक वाले तीन बेलनाकार धातु के बक्से और बॉल बेयरिंग चिपकाए गए दो और बक्से बरामद किए गए। उसके घर से बरामद अन्य सामग्रियों में एक लकड़ी का टूटा हुआ बक्सा (निशाना लगाने के अभ्यास के लिए), विभिन्न व्यास के 30 बॉल बेयरिंग, बॉल बेयरिंग के 12 छोटे डिब्बों का एक पैकेट, चार वोल्ट की दो और नौ वोल्ट की एक लिथियम बैटरी, बेलनाकार धातु के दो बक्से आदि शामिल थे। कुशवाह ने कहा, बिजली के तारों से जुड़े हुए दो लोहे के ब्लेड, एक तार कटर, दो मोबाइल चार्जर, बिजली के तार से जुड़ी एक टेबल अलार्म घड़ी और एक काले रंग का टेप भी बरामद किया गया।

गिरफ्तारी के बाद राष्ट्रीय राजधानी और उत्तर प्रदेश में सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। कुशवाह ने बताया कि खान ने 15 अगस्त को राष्ट्रीय राजधानी में आतंकवादी हमले की साजिश रची थी, लेकिन भारी सुरक्षा इंतजामों के चलते वह ऐसा नहीं कर पाया। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि खान (36) पर पिछले वर्ष से नजर रखी जा रही थी। ब्योरा देते हुए उन्होंने कहा कि खान पहले यूसुफ अल हिंदी के संपर्क में था जो 2017 में सीरिया में मारा गया। उसके बाद वह पाकिस्तानी नागरिक अबू हुजैफा के संपर्क था जो जुलाई 2019 में अफगानिस्तान में ड्रोन हमले में मारा गया। बाद में उसके एक और आका ने उसे हमला करने के लिए निर्देश दिया। दिल्ली की एक अदालत ने आईएसआईएस के एक संदिग्ध आतंकवादी को शनिवार को आठ दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *