दोगुना हो गया मृत्यु प्रमाणपत्र का आंकड़ा

loktantranews: स्वास्थ्य विभाग में मृत्यु प्रमाणपत्र के लिए लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई है। मई के 15 दिनों में ही स्वास्थ्य विभाग ने 1,478 लोगों के मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किए हैं, जबकि इस वर्ष जनवरी से लेकर अब तक 3,802 लोगों के प्रमाणपत्र जारी हो चुके हैं।

जिले में कोरोना संक्रमितों की मौत का तांडव अप्रैल में शुरू हुआ था। 10 अप्रैल के बाद से ही अब तक जिले में रोजाना औसतन 10 लोगों की कोरोना से मौत हो रही है। प्रदेश का शो विडो होने के चलते जिले में बाहरी लोग भी उपचार के लिए पहुंचते हैं। शासन की गाइडलाइन के अनुसार, मरीज की जिस जिले में मौत होती है, उनका मृत्यु प्रमाणपत्र भी उसी जिले का स्वास्थ्य विभाग जारी करता है। अप्रैल में जहां सिर्फ 683 लोगों के ही मृत्यु प्रमाणपत्र बने थे, वहीं मई के 15 दिनों में आंकड़ा दोगुना हो गया है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के मुताबिक इसमें और भी इजाफा होने की संभावना है।

बता दें कि सीएमओ कार्यालय स्थित जन्म-मृत्यु प्रमाणपत्र कार्यालय में सिर्फ नोएडा शहर के प्राइवेट अस्पतालों में ही मरने वाले लोगों का प्रमाणपत्र बनाया जाता है। हैरत की बात यह है कि यदि एक शहर के अस्पतालों में इतनी मौत हो रही है, तो जिलेभर के अस्पतालों में मौत का आंकड़ा क्या होगा। नियम यह भी है कि यदि किसी व्यक्ति की मौत सरकारी अस्पताल में होती है तो उसका प्रमाणपत्र भी अस्पताल ही जारी करता है। वहीं विभाग में लगातार लोगों को इधर-उधर घुमाने की शिकायतें पहुंच रही है। सीएमओ डॉ. दीपक ओहरी ने बताया कि मई में प्रमाणपत्र के लिए आवेदन बढ़ गए हैं। बॉक्स.

वर्ष 2021 में अबतक बनाए गए मृत्यु प्रमाणपत्र

माह पुरुष महिला कुल

जनवरी 451 227 678

फरवरी 300 185 485

मार्च 304 192 496

अप्रैल 440 243 683

15 मई 964 514 1,478

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *