प्रेमी के लिए सुहाग की हत्या….

Loktantranews: प्यार अंधा होता है यह कहावत तो हम सब ने सुन रखी है, यूं तो इस कहावत का अर्थ कुछ और है परंतु एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने ये साबित कर दिया है कि प्यार में पड़े इंसान की सोचने समझने की शक्ति समाप्त हो जाती है।

मामला जुड़ा हुआ है ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के दनकौर कोतवाली क्षेत्र का। ग्रेटर नोएडा जिले के दनकौर कोतवाली क्षेत्र देवटा गांव के रहने वाले सतीश की 19 मई को हत्या हो गई थी। उसका शव गांव के पास स्थित पशु अस्पताल के पास खून से लथपथ मिला था। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने पहली ही झलक देखकर बता दिया था कि यह हत्या का मामला है। पुलिस ने अनुमान लगाया था कि ईट अथवा किसी भारी पत्थर से प्रहार करके सतीश को मौत के घाट उतारा गया है।

सतीश की मौत को हत्या मानकर पुलिस ने जांच शुरू की। जांच के बाद अब जो डिटेल सामने आई है वह काफी चौकाने वाली है। पुलिस ने जो सच बाहर निकाला है उस पर लोग भरोसा भी नहीं कर पा रहे हैं। परंतु जांच के दौरान पुलिस के हाथ लगे सुराग, साक्ष्य, हत्या में प्रयुक्त किए गए हथियार के साथ-साथ पुलिस की कस्टडी में लिए गए तीन आरोपियों का कबूलनामा हत्या के षड्यंत्र के सच बता रहे हैं।

मृतक के कॉल डिटेल साई पुलिस के सामने सच्चाई –

शुरुआती जांच के लिए पुलिस ने मृतक सतीश के फोन की कॉल डिटेल निकाली। कॉल डिटेल में पुलिस के कुछ ऐसे नंबर मिले जिस पर कई बार बात की गई थी। इनमें से एक नंबर देवटा गांव के ही निवासी रामकिशोर का था। पुलिस ने रामकिशोर को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ शुरू की। पूछताछ में पुलिस के सामने एक और नाम निकल कर आया जो देवटा गांव के ही निवासी मंजीत का था।

रामकिशोर और मंजित ने अपने कुबूलनामे में हत्या की साजिश में मृतक सतीश की पत्नी पूजा के भी शामिल होने की बात की।

अवैध सम्बंध बना सतीश की हत्या की वजह –

दरअसल सतीश की पत्नी पूजा का गांव के ही निवासी रामकिशोर के साथ अवैध संबंध था। पति से छुटकारा पाने के लिए पूजा ने ही अपने पति की हत्या की साजिश रची थी। जिसमें उसका साथ निभाया था रामकिशोर और अमर सिंह ने।

Leave a Reply

Your email address will not be published.